एक नजर इधर भी

एक ब्लॉग अपने देश के नाम

25 Posts

236 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 5235 postid : 50

2जी बना एक खतरनाक ड्रैगेन

Posted On: 30 Sep, 2011 पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

2 g2जी का मतलब दूसरी पीढ़ी को एक बेहतर डिजिटल टेक्नॉलोजी से अवगत कराना है. जब यह टेक्नॉलोजी देश में आयी तो किसी ने सोचा भी नहीं था कि यह टेक्नॉलोजी कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के लिए एक बड़ी सिरदर्द साबित होगी. सरकार इस टेक्नॉलोजी को मोबाइल उपभोक्त्ताओं के सुविधाओं के लिए लायी थी. लेकिन उसने कभी सोचा नहीं था कि यह सुविधा उनके लिए असुविधा और दर्द से भरी होगी.


2जी स्पेक्ट्रम में किए गए घोटाले ने सरकार की नींदें उड़ा दी हैं. उसके सारे सुख-चैन छीन लिए हैं. पिछ्ले कई महीनों से 2जी का काला साया सरकार के पीछे लगा हुआ है. क्या देश, क्या विदेश हर जगह 2जी का वायरस सरकार का पीछा नहीं छोड़ रहा है. इसने अपने प्रभाव से कांग्रेस के महकमों में खलबली मचा दी है. मंत्री तो मंत्री कांग्रेस के हरेक नेता 2जी के इस बदनामी से पीछा नहीं छुड़ा पा रहे हैं. कांग्रेस के नेता और प्रवक्ता 2जी घोटाले को लेकर मीडिया द्वारा उठाए जाने सवालों का जवाब देते-देते थक चुके हैं. इसने तो राष्ट्रीय स्तर के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी भारत और यूपीए सरकार किरकिरी की है.


2जी रूपी ड्रैगेन ने सरकार के कई बड़े नेताओं, मंत्रियों और कॉरपोरेट के कई बड़े धुरंधरों को अपनी चपेट में लेकर उसे सही अंजाम तक पहुंचा दिया है. इतने में यह कहना कि इस ड्रैगेन की भूख समाप्त हो चुकी है, बिलकुल गलत है. इसके चपेट में तो अभी कई घोटालेबाजों की मोटी चमड़ी आनी बाकी है जिन्होंने इस बड़े घोटाले की नींव रखी. यह ड्रैगेन सरकार के बड़े मंत्रालयों और प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर कूच कर चुका है. गृह मंत्री से लेकर पूर्व कपड़ा मंत्री यहां तक की प्रधानमंत्री को अपनी चपेट में लेने के लिए योजना बना चुका है यह ड्रैगेन.


सरकार को इस 2जी घोटाले से जितनी दर्द और पीड़ा मिली है उतनी पीड़ा अन्य किसी घोटाले से नहीं मिली. कॉमनवेल्थ गेम, आदर्श सोसायटी घोटाला, यह सब घोटाले कहीं न कहीं दब चुके हैं या फिर कांग्रेस के विरोधियों और मीडिया ने इसे दबाकर सारा ध्यान 2जी घोटाले पर लगा दिया है क्योंकि उनके विरोधियों को पता है कि 2जी रूपी समुद्र में बड़ी-बड़ी व्हेल मछलियां हैं जिनको पकड़ कर कांग्रेस की पोल खोली की जा सकती है.


इस घोटाले से कांग्रेस की सोच पर काफी असर पड़ा है. इसने पार्टी की कई सारी योजनाओं को प्रभावित किया है जिसमें चुनावी योजना भी शामिल है. देश के कई हिस्सों में आने वाले चुनावों को देखते कांग्रेस के युवराज ने देश के उत्तरी भागों में जगह-जगह दौरा किया. लेकिन 2जी के घोटाले ने इन सभी दौरों को मिट्टी में मिला दिया है. अब आगे देखिए कि कांग्रेस की क्या रणनीति होती है जिससे वह 2जी के जिन्न से पीछा छुड़ा सके.


यह ब्लॉग मैं जंक्शन के पाठकों की प्रतिक्रिया के लिए पोस्ट कर रहा हूं. आशा है आप सभी इस घोटाला प्रकरण का मजा लेते हुए कांग्रेस की भावी रणनीति का खुलासा करेंगे.




Tags:                               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

10 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

surendra shukla bhramar5 के द्वारा
October 4, 2011

शक्ति सिंह जी सार्थक लेख …बकरे की माँ कब तक खैर मनाएगी …..आइये यों ही जागरूकता बढ़ाते रहें .. भ्रमर ५

    shaktisingh के द्वारा
    October 4, 2011

    विचार प्रकट करने के लिए आपको धन्यवाद

akraktale के द्वारा
October 1, 2011

शक्ति जी नमस्कार, २ जी का घोटाला तब सामने आया जब ३जी आया.किन्तु २जी कालाधन के बाद ३जी कालाधन नहीं आया. २जी खदानों के बाद ३जी खदाने नहीं आये. २जी आयल के बाद ३जी आयल नहीं आया. वरना तो जनता के सामने ऐसे ऐसे घोटाले होते कि कल्पना नहीं कर सकते. कामन वेल्थ भले करोड़ों का घोटाला हो बाकी घोटाले अरबों से कम के नहीं हैं. कांग्रस कि निति सिर्फ लोगों को उलझा कर अपने बाकी समय में अन्य घोटाले उजागर होने से बचाना है और शासन में रहते इसके सबूत नष्ट करना है. क्यों आज तक उन कालेधन वाले लोगों के नाम उजागर नहीं किये गए जिनके नामो कि लिस्ट सरकार के पास कब कि आ चुकी है.

    shaktisingh के द्वारा
    October 3, 2011

    रक्तले जी प्रतिक्रिया देने के लिए धन्यवाद, आपने भी एक दम सही बात लिखी

sadhana thakur के द्वारा
October 1, 2011

शक्ति जी ,,जैसी करनी वैसी भरनी ,,आज के सरकार के लिए ………….अच्छा लगा आपका लेख ,बधाई ……….

    shaktisingh के द्वारा
    October 3, 2011

    साधना जी, राय देने के लिए आपको धन्यवाद

abodhbaalak के द्वारा
October 1, 2011

सुन्दर रचना शक्ति जी, ज्ञानवर्धक तो है ही. http://abodhbaalak.jagranjunction.com/

    shaktisingh के द्वारा
    October 1, 2011

    प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद

Santosh Kumar के द्वारा
September 30, 2011

शक्ति भाई जी ,सप्रेम नमस्कार बहुत सामयिक अच्छी पोस्ट ,..जिन्न भला कहाँ पीछा छोड़ते हैं,..”पिछले कर्मों के आधार पर ही आगे की योजना बनानी चाहिए ” लगता है कांग्रेस यह बात भूल गयी थी ,.उसे लगा होगा किसी को पता ही नहीं चलेगा ,… जिस तरह से सरकार अभी तक इस घोटाले को दबाने के लिए लगातार जोर लगा रही है ,..उससे यही लगता है कि साम्राज्य ढहने का खतरा महसूस कर लिया गया है ,.. आजकल आप मेरे ब्लाग पर नहीं आतें हैं ,….यदि मुझसे कोई गलती हो गयी हो तो क्षमा करो बंधू,…मेरे ब्लाग पर सबसे पहली प्रतिक्रिया आप की है,.. साभार http://santo1979.jagranjunction.com/

    Rajkamal Sharma के द्वारा
    October 1, 2011

    भाई साहिब आप हमारे ब्लॉग पर चाहे न आये लेकिन कम से कम अपने ब्लॉग पर हमारी प्रतिकिर्याओ का उतर ही दे दिया करे तो वोही आपकी बहुत मेहरबानी होगी …… अगर आप ऐसा आचरण करेंगे तो आप विचारों के लिए तरसते रह जायेंगे …… मेरा कमेन्ट ही मेरी आत्मा और शरीर है ….. आपने जब उसकी बेकदरी करके उसको एक कोने में ठेंगा दिखाते हुए बिठा दिया तो दुबारा अओप्से अपना अपमान करवाने भला कौन आएगा ….. जय हो माता रानी जगत जननी जी की :) :( ;) :o 8-) :| http://rajkamal.jagranjunction.com/2011/09/30/“आदरणीय-निशा-मित्तल-–-दा-ल/


topic of the week



latest from jagran